VoIP क्या है? Voice Over IP जाने हिंदी में।

VoIP क्या है
VoIP क्या है?

हेलो दोस्तों, Internet एक विशाल नेटवर्क है जिसमे कई services मौजूद है, उन्ही में से एक है VoIP service जिसने दूरियों को कम कर दिया है और लोगो को एक-दूसरे से connect कर दिया। VoIP के कारण ही आज हम Skype, Viber, Facebook Messenger, WhatsApp जैसी service का यूज़ कर पा रहे है।

तो चलिए जानते है आखिर VoIP क्या है? यह काम कैसे करता है और आप इसे कैसे यूज़ कर सकतें है।





Internet Telephony (VoIP) क्या है?

VoIP यानी Voice over Internet Protocol, IP telephony या internet telephony

VoIP एक ऐसी service है जिससे Intenet users अपने mobile phone, laptop, tablet के जरिये Internet telephony की सहायता से बात कर सकतें है। Internet telephony को VoIP की तरह ही इस्तेमाल किया जाता है।
अगर VoIP service को internet broadband के जरिये इस्तेमाल किया जाये तो इसे Broadband telephony कहते है।

VoIP के जरिये किये जाने वाली internet telephony साधारण calls की तुलना में काफी सस्ती होती है। VoIP service में ऐसा कोई नियम नहीं होता कि किस call के लिए कितना charge लगेगा। इससे आप कही भी international calls कर सकतें है बस इसके लिए आपको internet की जरुरत पड़ेगी।  


VoIP कैसे काम करता है?

Internet Protocol (IP) के जरिये voice communications करने और किसी multimedia session को deliver करने के लिए एक कार्यप्रणाली और विशिष्ट technologies के समूह को इस्तेमाल किया जाता है, जिससे आप Internet network के माध्यम से Internet Protocol (IP) के जरिये voice communication कर सकतें है।

VoIP service की मदद से remote areas में भी आसानी से voice communication किया जा सकता है और यह mobile services के मुकाबले बहुत सस्ती है और आप internet पर इस service को free में इस्तेमाल कर सकते है। Internet protocol के माध्यम से किसी भी remote area में tele-communication किया जा सकता है।

वैसे तो VoIP telephony के काम करने की प्रणाली बिल्कुल traditional digital telephony की तरह ही है और इसमें signaling करना, channel setup करना, analog voice signals का digitization करना और encoding करना शामिल है।




Circuit-switched network पर transmit करने के बजाय, इसमें digital information को Packetize किया जाता है और packet-switched network पर IP packets के रूप में transmission होता है।

विशेष Media delivery protocols के जरिये Media streams को transport किया जाता है, जो audio codec और video codecs के साथ audio और video को encode करतें है। इसमें कई codec होते है, जो network bandwidth और application requirement के आधार पर media stream को optimize करता है और इनमे से कुछ implementations उन narrowband और compressed speech पर depend करते है, और जबकि अन्य high-fidelity stereo codecs को support करते है।

Voice over IP
Voice over IP


VoIP के जरिये कैसे Call करते है?

जैसा कि VoIP service में analog signal को digital data में बदल दिया जाता है, यही कारण है कि आप real time two-way communication कर सकतें है। और इसीलिए call करते समय signal दूसरे phone पर पहुंचने से पहले ही convert हो जाते है।

VoIP service का इस्तेमाल करने के लिए आपके पास VoIP based device जैसे Mobile phone, tablet, laptop या स्पेशल VoIP phone होना जरुरी है तभी आप internet telephony के जरिये call कर सकतें है। VoIP service से call करने के लिए आपको अच्छी internet speed की जरुरत होती है ताकि आप smoothly बात कर पाएं।

इसके अलावा कई Instant Messaging Service Provider जैसे Skype, facebook messenger, WhatsApp, Viber और भी... यह सभी internet telephony की service दे रहे है। जिसके जरिए Smartphone mobile user अपने internet data से free voice और video call कर सकतें है।


Advantages of VoIP service 

  • Free Calling 

VoIP service को आप बिना किसी charge के, free में इस्तेमाल कर सकतें है। इसके लिए Internet connection की जरुरी है और आपको सिर्फ internet के लिए ही charge देना पड़ेगा।

  • Low Cost 

Traditional telephone service के मुकाबले VoIP service काफी सस्ती है, क्यूंकि government इसके लिए कोई heavy tax नहीं लेती है। इसलिए VoIP service काफी सस्ती है।

  • Portable Number 

VoIP service के लिए virtual number का यूज़ किया जाता है जो कि पूरी तरह से portable होतें है। आप इन Number को कभी भी कही भी इस्तेमाल कर सकतें है। यह उन लोगो के लिए बहुत ही useful है जो अकसर travelling करते रहते है।

  • More Calling Features 

VoIP service में भी Traditional telephony service की तरह ही कई features है जैसे conference calls, call divert, call hold और भी। VoIP service के जरिये आप VoIP system से जुड़े email account से fax messages को send और receive भी कर सकते है। 







Disadvantages of VoIP service

  • Poor Quality 

VoIP service की quality Internet connection पर depend करती है, यदि network पर ज्यादा traffic होता है तो voice quality कम हो जयेगी। जैसा कि Business calls जहा communication बहुत ही जरुरी होता है क्यूंकि response के आधार पर कोई action लिया जाता है।


  • Hacking 
Internet पर भी कुछ security related दिक्कतें आती है ,वैसे ही VoIP में कुछ खामिया है जैसे कि telephone hacking क्यूंकि VoIP service में data packets बहुत ही जल्द scan हो जाते है, इसलिए firewalls सही से perform नहीं कर पाता। VoIP में भी Worms और Virus जैसी दिक्कतें आ सकती है।

  • Tracking 

सामान्य phones में emergency calls को आसानी से track किया जा सकता है, क्यूंकि वह नजदीक call centre के पास divert हो जाती है इसलिए उन्हें identify किया जा सकता है। लेकिन VoIP में communication दो IP addresses के बीच में होता है जो दुनिया में कही से भी हो सकतें है। इसलिए call कहाँ से किया गया, यह पता लगाना बहुत ही मुश्किल होता है।

  • Security 

Security के हिसाब से भी VoIP ज्यादा reliable नहीं है क्यूंकि इसका प्रयोग आजकल आतंकवादि संघठन भी बड़े पैमाने में कर रहे है और इसमें personal data का चोरी होने, call tempering और spamming का भी खतरा रहता है जिसे phishing attacks कहा जाता है। और देश की खुफिया एजेंसी ने इस service को देश की सुरक्षा के लिए खतरा भी बताया बताया है। कई देशो में यह service को block कर रखा है। यही कारण है जिनकी वजह से VoIP service को reliable नहीं कहा जा सकता है। 

दोस्तों, इस POST में हमने बात की VoIP यानी Voice over IP और इसके uses के बारे में। हमें पूरी उम्मीद है की आपको हमारे द्वारा लिखी गयी यह POST पसंद आई होगी और Voice Over IP के बारे में काफी चीज़े सिखने को मिली होंगी। इस POST को लिखने के लिए हमने काफी जगहों से जानकारी इकट्ठा की लेकिन फिर भी हमसे कोई जानकारी छूट गयी है या कुछ गलत हुआ है तो निचे कमेंट करके जरूर बताएं। और अगर आपको लगता है की इसमें कुछ ऐसी जानकारी भी है जो आपके दोस्तों के काम आ सकती है तो इसको उनके साथ भी जरूर शेयर करें जिससे उन्हें भी कुछ जानने को मिले। और इसी तरह की और भी जानकारी पाने की लिए हमें सोशल मीडिया पर भी जरूर follow करें।

इसके अलावा अगर आप हमें किसी तरह की जरूरी जानकारी भेजना चाहते हैं तो हमारे contact us page पर जाएं।


👉 अगर आप कंप्यूटर के बारे में और भी जानना चाहते है तो आप इन सारी posts को एक बार जरूर देखें मुझे उम्मीद है की आपको इनसे काफी कुछ जानने को मिलेगा।
🔰

  1. कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर की definition और types
  2. TeamViewer क्या है? जाने हिंदी में
  3. Pendrive को bootable कैसे बनाये? जाने हिंदी में
  4. Operating System (OS) क्या है (हिंदी में)?
  5. Microsoft Windows क्या है? (in Hindi)
  6. MS office क्या है? Microsoft office
  7. कंप्यूटर वायरस क्या है? यें कैसे आते हैं?
  8. UNIX क्या है? Linux और UNIX में अंतर
इस पेज का PRINT या PDF DOWNLOAD करने के लिए यहाँ क्लिक करें 👉  

कोई टिप्पणी नहीं