VPS क्या है? Virtual Private Server Hindi

VPS क्या है
VPS क्या है

हेल्लो दोस्तों, अगर आप Internet चलाते हैं और इसके बारे में थोड़ी बहुत जानकारी रखते है तो आपने VPS या Virtual Private Server के बारे में कभी न कभी जरूर सुना होगा क्यूंकि यह आजकल काफी प्रचालन में हैं अगर आप इसके बारे में ही जानते हैं और जानना चाहते हैं की यह क्या होता है और इसका क्या काम है तो आप बिलकुल सही जगह पर आएं हैं क्यूंकि इस पोस्ट में हम इसी बारे में बात करेंगे की VPS क्या होता है? इसका इस्तेमाल किस लिया किया जाता है और यह कैसे काम करता है तो इन सभी सवालों को ध्यान में रखते हुए आइये जानते हैं इन सभी के जवाब।




VPS क्या है? Virtual Private Server Hindi

VPS kya hai
VPS kya hai

दोस्तों, VPS यानी Virtual Private Server को Virtual Dedicated Server भी कहा जाता है इसलिए इनमे Confuse होने की कोई बात नहीं है। जैसा की आप इसके नाम में ही देख सकते हैं इसमें Virtual जुड़ा हुआ है यानी यहाँ पर किसी ,physical या वास्तविक server की बात नहीं हो रही है बल्कि यहाँ पर एक किसी ऐसी चीज़ की बात हो रही है जिसे Virtually बनाया गया हो।

Virtual Private Server एक ऐसी online service है जिसमे आपको लगभग सारा control मिलता है बिलकुल वैसे ही जैसे आपको अपने Computer में मिलता है और कई सारे VPS servers में तो आप operating system भी इस्तेमाल कर सकते हैं यह आपको एक दम नार्मल Physical server जैसी ही फील देगा और आपको ऐसा ही लगेगा की आपके पास भी एक अपना खुद का अलग server है और आप उसमे कुछ भी कर सकते हैं।

लेकिन असल में वह एक पूरा server नहीं होता है वह बस एक बड़े server के अंदर virtualization technology से बनाया हुआ एक virtual server है जो उस बड़े server का ही हिस्सा है लेकिन इसकी सबसे ख़ास बात यह है की यह आपको बिलकुल नार्मल फिजिकल सर्वर जैसा ही फील कराता है ऐसे ही एक बड़े physical server के अंदर कई सारे छोटे छोटे virtual servers बनाये जाते है और उन्हें अलग-अलग लोगो को दिया जाता है और उसे सब अपने हिसाब से इस्तेमाल करते हैं इनका इस्तेमाल ज्यादातर business owners अपनी website होस्ट करने के लिए करते हैं इसके अलावा भी इसके कई इस्तेमाल है जैसे अगर आप कोई बड़े project पर काम कर रहे हैं और आपको अलग से एक कंप्यूटर या server नहीं बनाना है तो आप VPS की तरफ देख सकते हैं।

VPS एक बहुत ही नयी technology है और आने वाले समय में यह काफी अच्छा कर सकती है क्यूंकि यह एक Physical Server बनाने से काफी सस्ती होती है और इसे हम अपनी जरूरत के अनुशार इस्तेमाल कर सकते हैं
एक server में एक से ज्यादा VPS होते हैं और हर VPS में अपना खुद का अलग operating system और इसी बजह से हर VPS owner को अपने VPS का लगभग पूरा Control मिलता है।


Virtualization क्या है?


Computer या इससे related चीजों में Virtualization का मतलब होता है किसी चीज़ का virtual वर्शन बनाने जो actual में exist ना करता हो आजकल हम virtualization का इस्तेमाल operating system को virtually इनस्टॉल करने में करते हैं जहाँ हम Virtual box या VM were जैसे सॉफ्टवेयर इस्तेमाल करते है और Virtual Machine बनाते हैं। Actual में virtualization allow करती है हमारे PC पर operating system की अलग-अलग प्रतियों या images को run होने में। Virtualization का अबिष्कार इसीलिए किया गया है ताकि कीमती Processing पॉवर को waste होने से बचाया जा सके।




Web Hosting या Hosting क्या है?


Web Hosting का सिंपल मतलब है Internet पर एक जगह लेना जिसपर हम अपनी website को रख सकें और हमारी Website को दुनिया भर में इन्टरनेट के जरिये कहीं से भी एक्सेस किया जा सके। इस जगह को हम Web Server कहकर refer करते हैं Web server एक Computer ही होता है जो हमारे Computer से थोडा ज्यादा powerful और 24*7 इन्टरनेट से connected रहता है ये Server कई तरह के होते हैं और अभी हम इनमें से ही एक type के बारे में बात कर रहे है।


VPS का इस्तेमाल कब और क्यों किया जाता है?


VPS को हम Shared hosting का replacement नहीं मान सकते क्यूंकि VPS एक powerful और मेहेंगी Service है जिसका इस्तेमाल हम छोटी websites को होस्ट करने या एक सिंपल Blog बनाने के लिए इस्तेमाल नहीं कर सकते क्यूंकि अगर हम ऐसा करते हैं तो यह हमें अपनी Website के हिसाब से काफी costly हो जाएगा और हम इसकी पूरी power को इस्तेमाल भी नहीं कर पाएंगे इसलिए VPS को इस्तेमाल करने के कुछ Criteria हैं जैसे -

#1. एक से ज्यादा अच्छे traffic वाली websites होने पर


अगर आपके पास एक से ज्यादा अच्छे ट्रैफिक वाली Websites है और Shared Hosting पर hosted हैं तो आपको Shared hosting एक बार जरूर try करना चाहिए क्यूंकि Shared Hosting पर ज्यादा traffic होने पर Website की स्पीड धीरे-धीरे स्लो होने लगती हैं। इवन अगर आपकी एक ही Website पर बहुत अच्छा Traffic है तो आपको VPS के बारे में जानकारी लेकर इसको एक बार जरूर try करना चाहिए।


#2. एक powerful Web Application बनाने के लिए


अगर आप एक developer हैं और एक powerful web application जैसे photo editor आदि बनाना चाहते हैं जो ज्यादा resources का इस्तेमाल करते हैं इसके लिए आप Shared hosting का इस्तेमाल करेंगे तो आपको काफी दिक्कतें देखने को मिल सकती हैं तो अगर आप ऐसी application बनाना कहते हैं तो में आपको VPS ही recommend करूँगा।


इनके अलावा एक VPS को इस्तेमाल करने के बहुत सारे reason हो सकते हैं उसके लिए आपको बस यह याद रखने की जरूरत है की VPS Shared hosting से ज्यादा powerful, ज्यादा Controls देने वाला और ज्यादा costly भी होता है।

VPS के फायदे | Adavantages of VPS


#1. Server पर ज्यादा Control


VPS की सबसे बड़ी बात यही है की इसमें आपको Shared hosting से ज्यादा control मिलता है क्यूंकि इसमें आप लगभग हर चीज़ अपने हिसाब से कर सकते हैं यह पूरा का पूरा एक server ही होता है जिसमे सब आप ही को कण्ट्रोल करना पड़ता है। बिलकुल वैसे ही जैसे आप अपने कंप्यूटर को करते हैं अगर आपको इसमें Website होस्ट करनी है तो सारे setup आप ही को करने पड़ेंगे इसलिए आपको इसके बारे में proper जानकारी होना जरूरी है।

#2. मन चाहा OS | Operating System on demand


VPS की एक और काफी अच्छी ख़ास बात यह है की इसमें आप Operating System अपनी मर्ज़ी से से choose कर सकते हैं जिसमे आपको बहुत ही wide variety मिलती है इसमें आप कई तरह के operating system मिलते हैं जैसे Windows, Linux Ubuntu, Debian, Mint आदि लेकिन में आपको Windows की जगह linux ही prefer करूँगा क्यूंकि security आपको linux में काफी अच्छी मिलती है।

#3. सस्ता | Less Costly


अगर आप VPS की जगह अपना खुद का server prefer करना चाहते हैं तो आपको बता दूं की एक पूरे Server के मुकावले यह काफी सता रहेगा और इसमें आपको maintenance के खर्च की चिंता करने की भी कोई जरूरत नहीं अगर आप अपना खुद का server बनाने के बारे में सोच रहे हैं तो इसे बनाने और maintenance करने में आपका बहुत ज्यादा खर्च होने वाला है जबकि VPS में ऐसा कुछ नहीं है और ऊपर से आप इसे जब चाहें तब छोड़ सकते हैं।





#4. ज्यादा Powerful


हमने इसके बारे में बहुत सारे बाते की हैं तो इस बारे में तो कोई सक नहीं की यह एक नार्मल shared server से काफी फ़ास्ट होता है और मैंने जैसा आपको पहले भी बताया है की आपको अगर ज्यादा resources इस्तेमाल करने वाली Web Application बना रहें है तो आपको VPS का ही इस्तेमाल करना चाहिए। VPS service लेते समय आपके पास इसका भी आप्शन आएगा की आपको इसमें RAM और प्रोसेसर कैसे चाहिए यहाँ पर आप जिस तरह का हार्डवेयर चुनते हैं आपको बादमे उसके अनुशार ही स्पीड मिलती है।




VPS के नुकशान | Disadvantages of VPS


वैसे तो मुझे यह बात बोलने की जरूरत नहीं होनी चाहिए की जिस चीज़ के फायदे होते हैं उसके नुकशान भी होते हैं VPS की बात करें तो इसमें भी हमें कई खामियां और कमियां देखने को मिलेंगी जैसे अगर इसमें सबसे पहली कमी की बात करें तो वह यह है की आपको इसमें सबकुछ मैनेज करना पड़ता है और अगर आपको इसके बारे में पूरी जानकारी नहीं है तो आप इसे ठीक से मैनेज नहीं कर पाएंगे और ठीक से मैनेज ना होने की बजह से कई सारे servers हैक हो जाते हैं।

इसके अलावा अगर आप अपनी ही एक छोटी Website को होस्ट करना चाहते हैं तो VPS आपके लिए उतना banaficial नहीं रहेगा इसलिए आपको VPS का इस्तेमाल बहुत ही सोच समझ कर करना होगा।



दोस्तों, मुझे पूरी उम्मीद है की आपको मेरे द्वारा दी गयी VPS क्या है? Virtual Private Server Hindi इस बारे में यह जानकारी पसंद आई होगी और VPS क्या है और इसको किसलिए इस्तेमाल किया जाता है इस बारे में जानकारी मिल गयी होगी अब अगर आपको लगता है की यह पोस्ट आपको दोस्तों के काम भी आ सकती है तो इसे उनके साथ भी जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी इस बारे में कुछ जानने को मिले और अगर आप इस तरह की और भी जानकारी चाहते हैं तो हमें हमारे सोशल मीडिया accounts पर भी जरूर follow करें ताकि आप हमारी लेटेस्ट पोस्ट सबसे पहले पड़ पाएं।

इसके अलावा अगर आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो मुझे कमेंट करके जरूर बताएं मुझे जान कर और उनका जवाब देकर मुझे बहुत ख़ुशी 😊 होगी। और अगर आपको इस ब्लॉग के बारे में कुछ जरूरी बताना है तो हमें हमारे Contact us पेज से भी भेज सकते हैं।


  1. कंप्यूटर क्या है? कंप्यूटर की definition और types
  2. सॉफ्टवेयर क्या है? परिभाषा और प्रकार
  3. हार्डवेयर क्या है? हार्डवेयर की परिभाषा
  4. Keyboard क्या है? keyboard layout के types
  5. Operating System (OS) क्या है (हिंदी में)?
  6. Microsoft Windows क्या है? (in Hindi)

Tags :- Computer basics, VPS क्या है , Virtual Private Server Hindi, VPS hosting, Virtual private hosting explained hindi

इस पेज का PRINT या PDF DOWNLOAD करने के लिए यहाँ क्लिक करें 👉  

2 टिप्‍पणियां:

  1. हेलो सर

    ब्लॉगर पर तो visitors आने की प्रॉब्लम तो नहीं आती यानि के एक ही समय कितने भी visiotrs ब्लॉग को खोल सकते हैं
    मेरे ब्लॉग में visitors की problem आ रही है जब visitors बढ़ जाते हैं तो blog खुलना बंद हो जाता है
    wordpress पर ब्लॉग है , godaddy का stater प्लेन है

    आगे की होस्टिंग ज्यादा महंगी पड़ती है। अब क्या करें ? क्या blogspot पर शिफ्ट हो जाएं ? vps plan तो बहुत महंगा पड़ता है ? shared hosting में फिर वहीँ प्रॉब्लम रहेगी ?
    please help ---

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. नहि दोस्त यहाँ लोडिंग स्पीड की कोई प्रॉब्लम नहीं है लेकिन शिफ्ट होने से पहले ब्लॉगर के नुकशान और फायदे दोनों के बारे में अच्छे से जान लें

      हटाएं