Server क्या है? Client कंप्यूटर और server में अंतर

Server क्या है
Server क्या है? Client कंप्यूटर और server में अंतर

हेल्लो दोस्तों, अगर आप कंप्यूटर और इन्टरनेट के बारे में थोडा बहुत भी जानते हैं तो आपने server के बारे में तो सुना ही होगा अगर हाँ तो आपके मन मे इसको लेकर कई सवाल आएं होंगे जैसे की यह क्या होता है यह कैसा होता है और यह हमारे computer पर data कैसे भेजता है यह हमारे कंप्यूटर से कैसे अलग है आदि तो अगर आप इन सभी सवालों के जवाब जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को आगे पड़ते रहिये क्यूंकि इसमें हम इसी बारे में बात करेंगे की Server क्या है? Client कंप्यूटर और server में क्या अंतर है और साथ ही जानेंगे की server कैसे काम करता हैं और इसके क्या क्या उपयोग है तो इन सभी सवालों को ध्यान में रखते हुए आइये जानते हैं इनके बारे में।




Server क्या है? What is Server

Server kya hai
Server kya hai

दोस्तों, सर्वर कंप्यूटर कुछ नहीं बस हमारे कंप्यूटर की तरह ही एक कंप्यूटर होता है जिसमे एक स्पेशल सॉफ्टवेयर इनस्टॉल रहता है उस सॉफ्टवेयर को हम server कहते हैं यह सॉफ्टवेयर इन्टरनेट के जरिये अन्य computers जिन्हें हम client कंप्यूटर कहते है को सुचना या data भेजने का काम करता है। जिस तरह से web browser एक client यानी हमारे कंप्यूटर में इनस्टॉल होकर इन्टरनेट से आने वाली data को fetch करता है या रेसिव करता है उसी तरह सर्वर data को भेजने का काम करता है हमारा web browser server द्वारा भेजी गयी data को receive करता है। यहाँ पर server और web browser दोनों बस एक application सॉफ्टवेयर होते हैं जो अलग-अलग कंप्यूटर में इनस्टॉल होते हैं जिन्हें client व server कहा जाता है।

आम तौर पर server बनाने के लिए किसी सामान्य Personal Computer का इस्तेमाल नहीं किया जाता क्यूंकि हमारा नार्मल कंप्यूटर 24 घंटे चालु रहकर काम नहीं कर सकता। server सॉफ्टवेयर के द्वारा क्लाइंट के पास data भेजने में भी उतनी ही प्रोसेस लगती है जितनी क्लाइंट कंप्यूटर के द्वारा उस data को receive करने में इस तरह से देखा जाए तो एक सर्वर पर एक समय में कई सारे लोग जुड़े रहते हैं लेकिन हमारा कंप्यूटर एक समय में बहुत ज्यादा यूजर हैंडल नहीं कर सकता उसके पास उतनी प्रोसेसिंग क्षमता नहीं है। इसी लिए हम server के रूप में हमारे कंप्यूटर से बहुत ही ज्यादा powerful computers का इस्तेमाल करते हैं।

उदहारण के तौर पर देखा जाए तो Google के सर्वर पर एक बार में ही करोडो client computer जुड़ते होंगे लेकिन google का server फिर भी उनको बहुत ही आसानी से data भेज देता है बो भी बिना देर किये लेकिन अगर हम हमारे कंप्यूटर की बात करें तो हम एक बार में सात से आठ वेबसाइट से भी data नहीं ले पाएंगे इतने में ही हमारा कंप्यूटर hang होने लगेगा इसीलिए google भी server के रूप में बहुत ज्यादा प्रोसेसिंग पॉवर रखने वाले बड़े-बड़े computers को इस्तेमाल करता है अपने सर्वर के रूप में।

Server के types in Hindi


दोस्तों जैसा की आप जानते हैं की इन्टरनेट पर हम सिर्फ एक ही तरह का काम नहीं करते बल्कि में इन्टरनेट पर कई तरह तरह के काम करते हैं जैसे कभी हम किसी data को अपने browser में लोड करते हैं, कभी हम किसी दुसरे कंप्यूटर में या server में data अपलोड करते हैं, कभी हम database में data स्टोर करते हैं, कभी हम ईमेल का इस्तेमाल करते हैं आदि लेकिन क्या आप जानते हैं की इन सभी अलग-अलग कामो को एक सर्वर से हैंडल नहीं किया जा सकता इसीलिए इन सभी अलग-अलग तरह के कामो के लिए हमें अलग-अलग तरह के server की जरूरत होती है जो उसी काम के लिए specially बनाया जाता है।




Server के कुछ टाइप्स इस प्रकार है - 

Web server


Web server एक अकेला कंप्यूटर या एक से ज्यादा कंप्यूटर को मिलकर बनाया जाता है यह basically बही server होता है जिसका इस्तेमाल हम आजकल ज्यादातर कर रहे है यानी यह server web pages और web sites को स्टोर करने और उन्हें request आने पर क्लाइंट तक पहुचाने में मदद करता है इस तरह के server HTTP प्रोटोकॉल को सपोर्ट करते हैं। जो भी सर्वर website store करके रखता है उसमे web server सॉफ्टवेयर ही इनस्टॉल होता है।

इस तरह के पोपुलर सर्वर हैं Apache web server और Microsoft का Internet Information Service (IIS)।

Mail server



इस तरह के server का इस्तेमाल ईमेल भेजने और receive करने के लिए किया जाता है इसके साथ ही यह Email और उससे सम्बंधित data को स्टोर करके रखता है। इस तरह के server को virtual पोस्ट ऑफिस भी कहा जाता है क्यूंकि ये ईमेल को भेजने और रिसीव करने का काम करते हैं बिलकुल पोस्ट ऑफिस की तरह ही। इस तरह के server ज्यदातर SMTP या POP3 प्रोटोकॉल का इस्तेमाल करते हैं।

File server


File सर्वर अपने अंदर file स्टोर करके रखता है यह केवल एक स्टोरेज device का ही काम करता है इसमें यूजर के द्वारा request भेजने पर file को यूजर के कंप्यूटर में ट्रान्सफर कर दिया जाता है इस तरह के सर्वर file ट्रान्सफर प्रोटोकॉल यानी FTP का इस्तेमाल किया जाता है।


Cloud server


Cloud server भी कई तरह के होते हैं और हर cloud server किसी विशेष कार्य के लिए बनाया जाता है cloud server का एक बहुत ही अच्छा उदहारण है VPS यानी Virtual Private Server जिसमे आप किसी भी सॉफ्टवेयर को इनस्टॉल करके रन कर सकते हैं इसे VDS यानी Virtual Dedicated Server भी कहते हैं अभी यह technology धीरे-धीरे ग्रो कर रही है और भविष्य में हमें इसी तरह के के server ज्यादातर देखने को मिलेंगे।




Server कैसे काम है?



Server के काम करने के बारे में बात करें तो यह भी काफी हद तक वैसे ही काम करता है जैसे एक web browser जिस तरह web browser data receive करने का काम करता है उस तरह server data भेजने का काम करता है अगर सही में देखें तो server और web browser दोनों मिलकर ही काम करते हैं क्यूंकि server जिस data को भेजता है हमारा client software जैसे web browser उसे ही receive करता है उदहारण के तौर पर देखें तो अगर आप google.com का एड्रेस अपने browser के एड्रेस बार में डालते हैं तो google के पास एक request जाती है google उसे स्वीकार करके आपके कंप्यूटर और गूगल के सर्वर के बीच एक session बना देता है यानी एक पाइपलाइन बना देता है जिससे की आप जो request भेजे सिर्फ उसी का रिजल्ट आपके पास आए और दुसरे computers द्वारा भेजी गयी request का रिजल्ट आप तक ना आए।

आप जैसे ही किसी भी चीज़ के लिए सर्वर के पास request भेजते हैं server उसे तुरंत receive करके आपको रिजल्ट दे देता है।

Client कंप्यूटर और server कंप्यूटर में क्या अंतर है?


Client कंप्यूटर और server कंप्यूटर वैसे तो एक दुसरे से बिलकुल अलग होते हैं लेकिन एक बारे हमें इनके key पॉइंट्स जान लेना चाहिए तो आइये जानते हैं।

  • Client कंप्यूटर data receive करने का काम करते हैं जबकि server computer client तक data पहुचने का काम करते है।
  • Client कंप्यूटर में सामान्यतः data रिसीव करने के लिए web browser का इस्तेमाल किया जाता है जबकि server कंप्यूटर में एक सर्वर सॉफ्टवेये का इस्तेमाल किया जाता है।
  • एक client कंप्यूटर को यूजर अपने हिसाब से किसी भी काम के लिए इस्तेमाल कर सकता है जबकि एक सर्वर कंप्यूटर को केवल data भेजने के लिए बनाया जाता है इसके अलावा इनसे कोई काम नहीं किया जाता।



दोस्तों मुझे पूरी उम्मीद है की आपको मेरे द्वारा लिखी गयी Server क्या है? Client कंप्यूटर और server में अंतर इस बारे में यह पोस्ट पसंद आई होगी और server क्या है कैसे काम करता है इस बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा। अगर आपको इस पोस्ट में कोई भी चीज़ अच्छी लगी है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें ताकि उन्हें भी इससे कुछ जानने को मिला और अगर आप इस तरह की और भी पोस्ट पड़ना चाहते हैं तो हमें सोशल मीडिया पर जरूर follow करें इससे आप लेटेस्ट पोस्ट सबसे पहले पड़ पाएंगे।

इसके अलावा अगर आपके मन में कोई भी सवाल या सुझाव है तो मुझे कमेंट करके जरूर बताएं मुझे जान कर और उनका जवाब देकर मुझे बहुत ख़ुशी 😊 होगी। और अगर आपको इस ब्लॉग के बारे में कुछ जरूरी बताना है तो हमें हमारे Contact us पेज से भी भेज सकते हैं।

Tags - Server क्या है, Web server kya hai, server or client computer me difference, what is server in hindi


👉 अगर आप कंप्यूटर के बारे में और भी जानना चाहते है तो आप इन सारी posts को एक बार जरूर देखें मुझे उम्मीद है की आपको इनसे काफी कुछ जानने को मिलेगा।
🔰

  1. Operating System (OS) क्या है (हिंदी में)?
  2. Linux क्या है? Linux operating system in Hindi
  3. Graphics Card क्या है? इसका क्या काम है
  4. Motherboard क्या है? हिंदी में
  5. NFC क्या है? NFC in Hindi
  6. Computer RAM क्या हैं? इसका क्या काम है?
  7. Shell Scripting क्या है? Linux shell scripting Hindi
  8. ईमेल क्या है? (email kya hai)
इस पेज का PRINT या PDF DOWNLOAD करने के लिए यहाँ क्लिक करें 👉  

कोई टिप्पणी नहीं