IP address क्या है? हिंदी में।

what is ip address
IP address (इन्टरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस) क्या होता है? 



IP address क्या है? । What is IP address?

अगर आप internet का use करते है तो आपने IP address के बारे में तो सुना ही होगा और आप इसके बारे में जानना भी चाहते होंगे IP address का पूरा नाम internet protocol address (इन्टरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस) है

Internet Protocol (IP) को ही TCP यानी Transmission Control Protocol कहते है इसी के कारण computers या नेटवर्किंग डिवाइस internet से connect हो पाते है।

हर कंप्यूटर का अपना एक यूनिक IP address होता है। IP address में IP का मतलब internet की protocol से है और address का मतलब उस protocol से कनेक्टेड कंप्यूटर्स या नेटवर्किंग डिवाइस के पते से। IP address हर डिवाइस की अपनी एक पहचान होती है यानी एक आइडेंटिफिकेशन है जिससे उस डिवाइस की लोकेशन और नेटवर्क का पता चलता है।


IP address का format कैसा होता है?




एक IP address 4 भागो में बटा होता है जिनमे प्रत्येक भाग को डॉट ‘.’ से अलग अलग किया जाता है

एक सामान्य IP v4 address कुछ इस तरह दीखता है 192.168.89.42 एक IPv4 या IP version 4 address 32 bit का होता है जिसको अब ज्यादा use नहीं किया जा सकता क्योंकि यह सिर्फ 32 bit का होता है और केवल 400 करोड़ IP address ही बनाये जा सकते है जोकि लगभग पूरे हो चुके है

क्यांकि सिर्फ कंप्यूटर्स या मोबाइल्स ही नहीं हर बो डिवाइस जो internet से connected है जैसे गूगल होम (गूगल का स्पीकर) उसका भी अपना एक IP address होता है लेकिन चिंता करने की कोई बात नहीं है

इसका उपाय भी ढूंढ लिया गया है जिसको हम IPv6 कहते है यह एक 128bit का IP address होता है जो इस समस्या को ख़त्म कर देगा एक साधरण IPv6 address कुछ इस तरह दीखता है -

"fe80::8187:af64:2e37:2543%16c"


IP address के versions । Versions of IP address


जैसा की हम पहले ही बात कर चुके है की IP address के दो versions होते है IPv4 और IPv6

IPv4 (इन्टरनेट प्रोटोकॉल version 4)

IP version 4 एक 32 bit का IP address होता है जिसके कारण अब IPv4 से कोई IP address नहीं बनाये ja सकते। IPv4 चार भागो में बता होता है और इसको अलग अलग भागो में बाटने के लिए बिचमे डॉट का use किया जाता है।


IPv6 (इन्टरनेट प्रोटोकॉल version 6)

IP version 6 एक नया और एडवांस्ड version है जिसमे केवल नंबर्स का ही नहीं बल्कि alphabat और सिम्बल्स का भी उसे किया जाता है IPv6 के भागो को सेमीकोलन से बता जाता है। यह 128 bit का IP address होता है IP version 6 के कारण अब शायद IP address का अगला version लाने की इतनी जल्दी जरुरत नहीं पड़ेगी।


IP address के types । Types of IP address


Local या private IP address

जब दो से ज्यादा डिवाइस एक दुसरे से किसी वायर्ड या वायरलेस नेटवर्क के द्वारा connect होता है तो हर डिवाइस को अपना एक यूनिक IP address मिलता है जिसे private IP address कहते है।

public IP address

public IP address डिवाइस को internet service provider (ISP) द्वारा दिया जाता है जो आपको worlwide connect करके रखता है public IP address दो प्रकार के होते है एक दी dynamic जो बदलता रहता है और एक static जो बदलता नहीं है।


कैसे करे अपने कंप्यूटर का ip address चेक?





विंडोज users के लिए -

सबसे पहले start में जाये और command prompt ओपन करे
उसके बाद ये command लिखे -
ipconfig

mac users के लिए -

सबसे पहले terminal ओपन करे
terminal में ये command लिखे -
ifconfig


linux users के लिए -

सबसे पहले terminal ओपन करे
terminal में ये command लिखे -
ifconfig less

अगर आपको ये सब करना पसंद नहीं है तो आप google पर सीधे what is my IP सर्च कर सकते हो आपको आपका IP address पता चल जाएगा।


यह पड़ें –







उम्मीद है आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी और IP address क्या है इसके बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा अगर यह पोस्ट आपको कुछ काम की लगी है तो इसे शेयर करना ना भूलें हो सकता है आपकी शेयर की गयी जानकारी किसी के काम आ जाए।


अगर आपके कोई सवाल या शुझाव है तो कमेंट में जरूर बताएँ हमें ख़ुशी होगी उनका जवाब देकर।

Tags - ip address kya hai, ip address in hindi, what is ip address, ip address ke baare me

कोई टिप्पणी नहीं